क्राइमदेहरादून

अतिक्रमण कारियों पर चला वन विभाग का डंडा। 155 बीघा वन भूमि कब्जे से की मुक्त

अतिक्रमण हटाने की कारवाई निरंतर जारी।

देहरादून। माननीय उच्च न्यायालय के आदेशा अनुसार सड़क किनारे, नदी नालों के किनारे तथा सरकारी भूमि पर अवैध अतिक्रमण हटाने के क्रम में लच्छीवाला रेंज के वन क्षेत्राधिकारी श्री घनानंद उनियाल के नेतृत्व में अतिक्रमण हटाने की कारवाई निरंतर गतिमान है , वन क्षेत्राधिकारी श्री उनियाल ने बताया कि पिछले सप्ताह तक  लच्छीवाला रेंज के अंतर्गत सुसवा नदी के किनारे आरक्षित वन भूमि में अतिक्रमण कारियों द्वारा आरक्षित 125 बीघा वन भूमि पर खेती कर रहे अतिक्रमण कारियों से खाली करवाया गया। अब इस भूमि पर सघन वृक्षारोपण करके सरकारी भूमि को अपने कब्जे में लिया जाएगा ताकि निकट भविष्य में कोई भी अतिक्रमण कारी इस खाली भूमि पर अतिक्रमण ना कर सके। इसी क्रम में आज नवादा वन क्षेत्र से करीब 30 बीघा जमीन को खाली करवाया गया जिसमें अतिक्रमण कारी वन गुर्जरों द्वारा झोपड़ी गौशाला तथा वन भूमि की घेरबार की गई थी।

वही बन गुजरो को सख्त हिदायत दी गई कि यदि उनके द्वारा दोबारा वन भूमि पर कब्जा किया गया तो वन अधिनियम के सख्त प्रावधानों के अंतर्गत उन्हें कारावास की सजा तथा अतिक्रमण हटाने में प्रयुक्त जैसीबी, श्रमिक, वा स्टाफ का सारा व्यय दोगुना कर अतिक्रमण कार्यों से ही वसूल किया जाएगा। अब तक लच्छीवाला रेंज के अंतर्गत 155 बीघा वन भूमि अतिक्रमण से अवमुक्त कराई गई हे। जिसमें निकट भविष्य में वृक्षारोपण कर पौधे रोपित किए जायेंगे, ताकि कोई भी अतिक्रमण कारी दुबारा वन भूमि पर कब्जा करने का प्रयास न कर सके।

वही वन क्षेत्राधिकारी श्री उनियाल द्वारा अवगत कराया गया की अवैध अतिक्रमण को चिन्हित कर उसे अतिक्रमण मुक्त करने की कार्यवाही लगातार जारी है।

Related Articles