उत्तराखंड

उत्तराखंड में कुदरत ने लिया रौद्र रूप

खराब मौसम के कारण रोकी गई केदारनाथ यात्रा, गंगोत्री हाईवे बहा

देहरादून। पहाड़ों में लगातार हो रही बारिश आफत बनकर बरस रही है। जिससे जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। आलय ये है कि भारी बारिश से नदी-नाले उफान पर हैं, तो पहड़ियां दरकने से भूस्खलन की घटनाएं सामने आ रही हैं। भारी बारिश के कारण केदारनाथ यात्रा रोक दी गई है। धराली में खीर गंगा के उफान पर आने से सड़क बह गई है। सरकार ने तीर्थ यात्रियों को मौसम का हाल देखकर की यात्रा करने के लिए कहा है।
केदारनाथ यात्रा के लिए आए तीर्थयात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए जिला प्रशासन ने उन्हें सोनप्रयाग और गौरीकुंड में रोक दिया है। लगातार खराब मौसम के कारण केदारनाथ यात्रा प्रभावित हुई है। चार राज्य मार्ग और 10 संपर्क मार्ग मलबा आने से बंद हैं। मंदाकिनी और अलकनंदा नदियां उफान पर हैं। गंगोत्री की ओर राष्ट्रीय राजमार्ग पर धराली में खीर गंगा के उफान पर आने से सड़क बह गई है। उत्तरकाशी जिला प्रशासन का कहना है कि भारी बारिश के बीच बंद सड़क को खोलने के लिए पिछले 12 घंटों से प्रयास जारी है। आईएमडी के अलर्ट को देखते हुए राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र के ड्यूटी अधिकारी ने पर्यटन विकास परिषद से चारधाम यात्रा के दौरान तीर्थयात्रियों की सुरक्षा के लिए एहतियाती कदम उठाने को कहा है।
उत्तराखंड में कुदरत ने जमकर कहर बरपाया है। हर तरह बारिश, बाढ़ और तबाही देखने को मिल रही है। जिससे आपदा जैसे हालात हो गए हैं। बारिश से सड़कें बाधित हैं तो नदियां उफान पर हैं। जिससे लोग घरों में कैद से हो गए हैं। जहां उन्हें अनहोनी की आशंका भी सता रही है।

Related Articles