उत्तराखंड

सावन के पहले सोमवार को शिवमयी हुई देवभूमि

देहरादून। सावन के पहले सोमवार को देहरादून सहित उत्‍तराखंड के मंदिरों में भोले के भक्‍तों की लाइन लगी रही। वहीं देहरादून के टपकेश्‍वर मंदिर के दरवाजे तड़के साढ़े चार बजे से भक्‍तों के लिए खोल दिए गए। देवभूमि में बम-बम भोले के जयकारों के साथ भक्‍त भगवान शिव का अभिषेक कर रहे हैं।
श्रावण मास के पहले सोमवार को हरिद्वार के शिवालयों में जलाभिषेक को सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी रही। आशुतोष की ससुराल कनखल के दक्षेश्वर महादेव मंदिर में शिव भक्तों की भीड़ जुटी थी। भगवान भोले शंकर को जलाभिषेक करने को श्रद्धालु अपनी बारी का इंतजार करते दिखे।
भीड़ नियंत्रित करने को मंदिर समितियों के अलावा पुलिस प्रशासन की ओर से व्यापक इंतजाम किए गए हैं। दक्षेश्वर महादेव मंदिर के अलावा बिल्केश्वर महादेव, नीलेश्वर महादेव, दरिद्र भंजन समेत तमाम शिवालयों में जलाभिषेक को श्रद्धालुओं की भीड़ जुटी है।
श्रद्धालुओं की व्यवस्था बनाने के लिए देहरादून में पुलिस प्रशासन के साथ ही मंदिर के सेवादार भी तैनात रहे। पूर्व संध्या पर जहां शिवालयों को रंग विरंगी लाइट व फूलों से सजाया गया वहीं शिवलिंग को रुद्राभिषेक कर श्रृंगार किया गया। अधिमास के चलते इस बार सावन दो महीने तक चलेगा। वहीं पर्वतीय क्षेत्रों में 16 जुलाई से सावन शुरू होगा।बीते तीन जुलाई से मैदानी क्षेत्रों में सावन मास शुरू हो चुका है। वहीं सावन के पहले सोमवार पर ऐतिहासिक टपकेश्वर महादेव मंदिर, जंगम शिवालय पलटन बाजार, कमलेश्वर महावेद मंदिर जीमएएस रोड, प्राचीन शिव मंदिर धर्मपुर, नर्वदेश्वर महादेव मंदिर गढ़ी कैंट, पृथ्वीनाथ महादेव मंदिर सहारनपुर चैक, अभयमठ शक्तिपीठ लक्ष्मण चैक समेत शहरभर के शिवालयों में रविवार देर शाम को तैयारी पूरी हो गई।

Related Articles