Uncategorized

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर विचार गोष्ठी

रुद्रप्रयाग /सुभाष चंद्र पर्यावरण दिवस के अवसर पर अगस्त्य ग्रोवर स्वायत्त सहकारिता कृषक संगठन (FPO) द्वारा अगस्त्यमुनि सौडी में एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें उपस्थित संगठन के कृषकों द्वारा पर्यावरण संरक्षण का संकल्प प्रस्तुत किया गया।
इस अवसर पर आई आई एम काशीपुर से प्रोफेसर डॉ सत्या द्वारा कृषक संगठन के सदस्यों से पर्यावरण के साथ साथ कृषकों की आय बृद्धि के उपायों पर चर्चा की गयी। डा बत्रा ने बताया कि मोटा अनाज जो कि पर्वतीय भू भाग की मुख्य फसल है इसका सही तरीके से विपणन कृषकों की आय का प्रमुख जरिया बन सकता है। मोटे अनाज के उत्पादन के लिए पर्वतीय कृषि भूमि सबसे अनुकूल है। अगर कृषक भाई इस पर थोड़ा अपने को केंद्रित करें तो यह आय को बढाने में बहुत ही उपयोगी सिद्ध होगा। जैसे कि सर्वविदित है कि इस वर्ष को अन्तर्राष्ट्रीय मोटे अनाज या श्री अन्न वर्ष के रूप में भी मनाया जा रहा है। इसका मकसद यही है कि इस प्रकार का पौष्टिक अनाज हर कृषक की थाली तक पहुंचे। कृषक संगठन के अध्यक्ष सुधीर सिंह पंवार ने बताया कि अगस्त्य ग्रोवर स्वायत्त सहकारिता के माध्यम से उनके द्वारा स्थानीय उत्पादों को विभिन्न व्यापारिक प्रतिष्ठानों, मेलों में पहुंचाया जा रहा है। स्थानीय कृषक को उनके उत्पाद का उचित दाम मिले संगठन की प्राथमिकता है।
कृषक संगठन के सचिव बीरेन्द्र कुमार ने बताया कि श्री नंदा देवी महिला लोक विकास समिति के मार्गदर्शन में और नाबार्ड के वित्तीय सहयोग से अगस्त्य ग्रोवर स्वायत्त सहकारिता ने बहुत ही सफलता हासिल की है। संगठन द्वारा सदस्य कृषकों को अधिक से अधिक लाभान्वित करने का भरपूर प्रयास निरंतर किया जा रहा है। इस अवसर पर कोषाध्यक्ष श्री नरेश कुमार ने भी अपने विचार ब्यक्त किये।

Related Articles