रूद्रप्रयाग

प्रधानमंत्री से जवाब मांगने केदारनाथ-बद्रीनाथ जाएंगे यूकेडी कार्यकर्ता: मोहित डिमरी

अंकिता हत्याकांड और भर्ती घोटालों की सीबीआई जांच की करेंगे मांग

रुद्रप्रयाग ।  दीपावली से पूर्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का केदारनाथ और बद्रीनाथ का दौरा प्रस्तावित है। संभवतया प्रधानमंत्री 21 अक्टूबर को केदारनाथ और बद्रीनाथ के दर्शन के लिए पहुँच सकते हैं।

प्रधानमंत्री के दौरे को देखते हुए उत्तराखंड क्रांति दल ने “प्रधानमंत्री जवाब दो” कार्यक्रम तय किया है। उत्तराखंड क्रांति दल के केंद्रीय मीडिया प्रभारी मोहित डिमरी ने बताया कि 21 अक्टूबर को केदारनाथ और बद्रीनाथ के दर्शन के लिए पहुँच रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अंकिता हत्याकांड और भर्ती घोटालों की सीबीआई जांच को लेकर जवाब मांगा जाएगा। इस दिन अंकिता को न्याय दिलाने के लिए लड़ रहे यूकेडी कार्यकर्ता सहित तमाम प्रगतिशील लोग उपवास पर भी रहेंगे। मोहित डिमरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने भाषण में इस बात का उल्लेख जरूर करते हैं कि उनका हिमालय से गहरा नाता और रिश्ता रहा है अपने संघर्ष के दिनों को याद करते हुए प्रधानमंत्री यह बात कहना नहीं भूलते हैं कि उत्तराखंड के हिमालय क्षेत्र में उन्होंने कई वर्षों तक तपस्या की है। आज जब हिमालय की बेटी अंकिता भंडारी की निर्मम हत्या कर दी जाती है और देश ही नहीं विदेश से भी लोग संवेदना व्यक्त करते हैं, लेकिन ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ का नारा देने वाले प्रधानमंत्री के मुंह से हिमालय की बेटी अंकिता के लिए एक भी शब्द नहीं निकलता है। हम प्रधानमंत्री से पूछना चाहते हैं अब आपका हिमालय प्रेम कहां गया ? क्या आपका हिमालय प्रेम तभी जागता है जब उत्तराखंड में चुनाव होते हैं ?

इतना ही नहीं उत्तराखंड में चुनाव के समय प्रधानमंत्री इस बात को भी कहते हैं कि आप हमें डबल इंजन की सरकार दीजिए। उत्तराखंड का पानी और उत्तराखंड की जवानी उत्तराखंड के काम जरूर आएगी, लेकिन आज न तो पानी उत्तराखंड के काम आया और उत्तराखंड की जवानी तो रोजगार के लिए सड़कों पर संघर्ष करते-करते बूढ़ी होती जा रही है।

यूकेडी के इस युवा नेता ने कहा कि हम लोग मोदी जी से जवाब मांगने केदारनाथ और बद्रीनाथ जाएंगे। हम जवाब मांगेंगे कि अंकिता हत्याकांड और भर्ती घोटालों की सीबीआई जांच क्यों नहीं हो रही ? आखिर जिस वीआईपी को स्पेशल सर्विस देने के नाम पर अंकिता की हत्या की गई, वह कौन था ? अंकिता हत्याकांड पर प्रधानमंत्री मौन क्यों हैं ?

यूकेडी नेता मोहित डिमरी ने आम जनता का आह्वान करते हुए कहा कि अंकिता भंडारी और बेरोजगार युवाओं को न्याय दिलाने के लिए बड़ी संख्या में 21 अक्टूबर को केदारनाथ-बद्रीनाथ पहुँचे। उन्होंने आम लोगों से प्रधानमंत्री के दौरे के मद्देनजर एक दिवसीय उपवास रखने को भी कहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *