क्राइम

अंकिता मर्डर केस में एसआईटी ने मांगी पुलिस रिमांड।

देहरादून। अंकिता मर्डर केस को लेकर शासन-प्रशासन सख्त एक्शन के मोड में है। मामले की जांच के लिए गठित एसआईटी ने आरोपियों की पुलिस रिमांड के लिए अदालत में अर्जी डाल दी है। मुख्यमंत्री ने मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट से कराने को भी कह दिया है।
एसआईटी की प्रभारी पी रेणुका देवी का कहना है कि उनकी टीम द्वारा घटना के साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। घटना से जुड़े सभी स्थलों से उनकी टीम साक्ष्य जुटा चुकी है, पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी एसआईटी को मिल चुकी है। थाना पुलिस से भी केस से संबंधित सभी जानकारियां हासिल की गई हैं सीसीटीवी फुटेज से भी साक्ष्य जुटाए गए हैं। वही फॉरेंसिक टीम से जांच कराई जा रही है। उनका कहना है कि जल्द ही आरोपियों को पुलिस रिमांड में लेकर उनसे पूछताछ की जाएगी और रिजार्ट की पूर्व महिला कर्मचारियों से एसआईटी की टीम पूछताछ कर रही है।
जिस स्कूटी और बाइक से आरोपियों के साथ अंकिता रिजार्ट से निकली थी और वापस नहीं आई उस स्कूटी और बाइक को भी बरामद कर लिया गया है। इसके साथ ही एसआईटी की टीम द्वारा उन लोगों के बारे में भी जानकारियां जुटाई जा रही हैं जो उस रात या उससे पहले रिजार्ट में ठहरे थे। आरोपियों के फोन की कॉल डिटेल से लेकर अंकिता के दोस्त पुष्प जिसके द्वारा पहली बार घटना के दिन पुलिस को कुछ गड़बड़ होने की आशंका जताई गई तथा आरोपियों से भी फोन पर वार्ता कर अंकिता के बारे में जानकारी लेने की कोशिश की गई थी उसे भी पूछताछ की जाएगी। एसआईटी ने उसे भी बुलाया है।
उधर इस मामले में घटना के दिन से ही फरार चल रहे राजस्व पटवारी वैभव को भी जिलाधिकारी पौड़ी द्वारा निलंबित कर दिया गया है। उल्लेखनीय है कि वैभव द्वारा ही अंकिता के पिता की रिर्पाेट न लिखने और मामले को लटकाए रखने का आरोप है। जो घटना के खुलासे के बाद से ही फरार है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *