रूद्रप्रयागशिक्षा

शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार को विशेष प्रयास करे विभाग: जिलाधिकारी

रुद्रप्रयाग। जनपद में शिक्षा का स्तर बेहतर करने तथा सभी छात्र-छात्राओं को गुणवत्ता शिक्षा मुहैया कराने के लिए जिलाधिकारी मयूर दीक्षित की अध्यक्षता में जिला कार्यालय कक्ष में शिक्षा विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की समीक्षा बैठक आयोजित की।
बैठक में जिलाधिकारी ने जनपद में शिक्षा का स्तर बेहतर हो तथा सभी छात्र-छात्राओं को गुणवत्ता शिक्षा उपलब्ध हो इसके लिए यह जरूरी है कि जनपद के सभी प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालयों में छात्र-छात्राओं की शत प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित कराने के लिए मुख्य शिक्षा अधिकारी एवं जिला शिक्षा अधिकारी को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया है कि जब सभी स्कूलों में छात्र-छात्राओं की उपस्थिति शत प्रतिशत होगी तभी शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार आएगा इसके लिए यह जरूरी है कि छात्र-छात्राओं की उपस्थिति सुनिश्चित की जाए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए हैं कि जिन विद्यालयों में 60 प्रतिशत से कम उपस्थिति है ऐसे विद्यालयों में विशेष ध्यान देते हुए माॅनीटरिंग करने की आवश्यकता है। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि स्कूलों में छात्र-छात्राओं की उपस्थिति एवं स्वास्थ्य के संबंध में हर माह अनिवार्य रूप से अभिभावक एवं टीचर के साथ बैठक आयोजित करने के निर्देश दिए ताकि बच्चों के स्कूल में न आने का कारण भी स्पष्ट किया जा सके। उन्होंने यह भी निर्देश दिए हैं कि शिक्षा का स्तर बेहतर करने के लिए जिन स्कूलों में छात्र संख्या अधिक है तथा वहां एक ही टीचर कार्यरत है, तथा ऐसे स्कूल जहां छात्र संख्या कम है और वहां एक से अधिक शिक्षक कार्यरत हैं ऐसे स्कूलों की सूची तैयार करते हुए जिन विद्यालयों में छात्र संख्या अधिक है वहां ऐसे विद्यालयों से अध्यापक का स्थानातंरण सुनिश्चित किया जाए जहां कम छात्र संख्या है, ताकि अधिक संख्या वाले स्कूलों में शिक्षा व्यवस्था को और अधिक बेहतर किया जा सके।


मध्याहन भोजन की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि सभी स्कूलों में छात्र-छात्राओं को गुणवत्तायुक्त आहार उपलब्ध हो इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही एवं शिथिलता न बरती जाए। उन्होंने कहा कि बच्चों को हरी सब्जी उपलब्ध कराने के लिए सभी स्कूलों में किचन गार्डन तैयार किए जाएं ताकि सभी स्कूलों में बच्चों को हरी सब्जी उपलब्ध हो सके इसके लिए उन्होंने बेहतर ढंग से कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने जनपद में संचालित स्मार्ट क्लास को और अधिक बेहतर ढंग से संचालित करने के निर्देश दिए तथा छात्र-छात्राओं के महत्वपूर्ण विषयों के कंटेक्ट तैयार करें ताकि छात्र-छात्राएं अपनी रूचि के अनुसार विषयों का ठीक ढंग से अध्ययन कर सकें।
बैठक में जिलाधिकारी ने जनपद में माध्यमिक एवं प्राथमिक स्तर पर ऐसे भवन जो जीर्ण-शीर्ण हो गए हैं तथा सुरक्षा की दृष्टि से उनका ध्वस्तीकरण किया जाना नितांत आवश्यक है इसके लिए जिलाधिकारी ने मुख्य शिक्षा अधिकारी एवं जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए हैं कि उनके अधीन ऐसे जो भी स्कूल हैं जिनका तत्काल ध्वस्तीकरण किया जाना है ऐसे स्कूलों की ध्वस्तीकरण की कार्यवाही तत्परता से सुनिश्चित की जाए।
बैठक में जिलाधिकारी ने जिला योजना की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि जिला योजना के तहत जो भी निमार्ण कार्य किए जा रहे हैं उन निर्माण कार्यों को समयबद्धता एवं गुणवत्ता के साथ शीर्ष प्राथमिकता से पूर्ण करना सुनिश्चित करें। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही एवं शिथिलता न बरती जाए।
बैठक में मुख्य शिक्षा अधिकारी यशवत सिंह चौधरी, जिला शिक्षा अधिकारी नागेंद्र बर्त्वाल, बीईओ जखोली मनवीर रावत, जिला सेवायोजन अधिकारी कपिल पांडे सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.