देहरादून

चारापत्ती लेने गई महिलाओं से पुलिस की बदसलूकी मामले ने पकड़ा तूल

कांग्रेस ने धामी सरकार पर साधा निशाना

देहरादून। टीएचडीसी की पीपलकोटी विष्णुगाड़ जल विद्युत परियोजना के डंपिंग जोन से घास लेकर आ रही महिलाओं से पुलिस और सीआरपीएफ जवानों से तीखी झड़प के बाद कांग्रेस ने राज्य सरकार पर निशाना साधा है। साथ ही कांग्रेस ने इस मामले में सरकार की घस्यारी योजना पर भी सवाल उठाए हैं।
कांग्रेस ने कहा कि हमारी ही भूमि में जलविद्युत योजनाएं चलाकर पैसा कमाया जा रहा है और यहां की आवाम को प्रताड़ित किया जा रहा है। यह उत्तराखंड की भूमि और यहीं के लोगों का इस पर पूरा हक है। कोई अगर यहां के लोगों के साथ बदतमीजी करता है तो इसे कांग्रेस पार्टी कभी सहन नहीं करेगी।
कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने डंपिंग जोन से चारापत्ती ला रही महिलाओं की पुलिस और सीआईएसएफ की महिला जवानों के साथ हुई झड़प को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी लगातार कहती आ रही है कि भाजपा जुमलो की पार्टी रही है। क्योंकि प्रदेश सरकार की ओर से चलाई जा रही घस्यारी योजना का लाभ अभी तक किसी गांव वाले को मिलता नहीं दिखाई दे रहा है। ऐसे बहुत कम लोग होंगे, जिन्हें इस योजना का लाभ मिला।
उन्होंने कहा कि जिस प्रकार चमोली में टीएचडीसी के लोगों ने काम किया है यह अपने आप में नई चीज देखने को मिली है। पीसीसी चीफ ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यदि कोई महिला अपने मवेशियों को खिलाने के लिए घास काटती है तो इसमें उनका क्या जा रहा है। क्योंकि उत्तराखंड की जमीन में काम करके पैसा कमाया जा रहा है और हमारे ही लोगों को प्रताड़ित किया जा रहा है। महिलाओं के साथ इस तरह की बदसलूकी से दुर्भाग्यपूर्ण कुछ नहीं हो सकता है।उन्होंने कहा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, महिला उत्पीड़न रोकने का नारा देने वाले और घस्यारी योजना चलाने वाली सरकार इस मामले में मौन धारण किए हुए हैं। वहीं, करन माहरा का कहना है कि यह उत्तराखंड की भूमि है और यहां की आवाम का इस भूमि पर संपूर्ण अधिकार है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.