चमोली

जान जोखिम में डाल कर बच्चे पहुंच रहे हैं स्कूल।

चमोली दशोली ब्लाक के दूरस्थ स्यूंण तथा लुदाऊं  के बच्चे भी जान हथेली पर रख कर गदेरा तैर कर ही स्कूल की आवाजाही कर रहे हैं।  गौरतलब है कि स्यूंण तथा लुदाऊं के मध्य पुल जर्जर होने से बच्चे नदी पार कर स्कूल की आवाजाही कर रहे हैं। पुल की हालत बेहद जर्जर होने के कारण छात्र-छात्राओं पर हर समय खतरा मंडरा रहा है। बच्चे रोज नदी पार कर स्कूल पहुंच कर घर वापसी कर रहे हैं। अभिभावक बच्चों को नदी पार करने के लिए हर रोज सुबह नदी तक पहुंच रहे हैं। पानी का जल स्तर बढ़ने पर अभिभावक बच्चों को लेकर वापस लौट जा रहे हैं। स्यूंण के युवक मंगल दल अध्यक्ष अरूण राणा का कहना है कि जान जोखिम में रख कर बच्चों की स्कूल जाने की यह कवायद लोगों को झकझोर रही है। उन्होने आवाजाही के लिए सुरक्षित व्यवस्था करने की मांग की है ताकि बच्चे सुरक्षित आवाजाही कर पठन पाठन व्यवस्था को जारी रखें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.