रूद्रप्रयाग

जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी नरेश कुमार ने बच्चों के साथ बैठकर किया भोजन।

उखीमठ । बहुउद्देशीय शिविर में जाने से पूर्व जिलाधिकारी मयूर दीक्षित द्वारा राजकीय प्राथमिक विद्यालय पाली फापंज का आकस्मिक निरीक्षण कर बच्चों को दिया जा रहा मिड डे मील एवं शिक्षा की गुणवत्ता का जायजा लिया। इस दौरान जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी नरेश कुमार ने बच्चों के साथ बैठकर भोजन किया।
निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने प्रधानाचार्य को निर्देश दिए कि बच्चों को गुणवत्ता शिक्षा देना सभी शिक्षकों की नैतिक जिम्मेदारी है इसके लिए यह जरूरी है कि सभी शिक्षक अपने दायित्वों का निर्वहन निष्ठा करें तथा बच्चों को नवाचार, आधुनिक शिक्षा से जोड़ने के लिए विशेष प्रयास करने को कहा। इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा बच्चों के काॅपियों का अवलोकन किया जिसमें सभी बच्चों की हैंड राइटिंग से प्रभावित हुए तथा सभी बच्चों व शिक्षकों की प्रशंशा की गई। जिलाधिकारी ने बच्चों को दिया जा रहा मिड डे मील का निरीक्षण किया तथा बच्चों को दिए जा रहे भोजन के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि बच्चों को मेन्यू के अनुसार ही भोजन उपलब्ध कराया जाए तथा प्रत्येक दिन बच्चों को पौष्टिक सब्जियां भी उपलब्ध कराया जाए तथा बच्चों के खाने व सफाई में विशेष ध्यान रखा जाए। उन्होंने विद्यालय में बच्चों के बैठने हेतु टेबिल व हाथ धोने हेतु वासवेशन लगाने के निर्देश दिए।
बहुउद्देशीय शिविर के बाद जिलाधिकारी द्वारा मनसूना क्षेत्र में मनरेगा के तहत किए गए निर्माण कार्यों, गौशाला एवं प्राथमिक विद्यालय मनसूना आदि का भी निरीक्षण किया गया।
निरीक्षण के दौरान जिला विकास अधिकारी मनविंदर कौर, उप जिलाधिकारी ऊखीमठ जितेंद्र वर्मा, मुख्य शिक्षा अधिकारी यशवंत सिंह चैधरी, उप मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डाॅ. राजीव गोयल, जिला पूर्ति अधिकारी केके अग्रवाल प्रधानाचार्य रजनी भल्ला, शिक्षक देवानंद गौरोला, सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.