रूद्रप्रयाग

हेली सेवा में कार्यरत स्थानीय कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर किया कार्य बहिष्कार, सुबह दो घण्टे बंद रही समस्त हेली सेवा।

फाटा श्री केदारनाथ धाम में संचालित हेली कम्पनियों में आज प्रातः विभिन्न मांगों को लेकर हेली कम्पनियों में कार्यरत स्थानीय कर्मचारियों ने कार्य बहिष्कार किया।
रविवार सुबह श्री केदार हेली सेवा सगठन के सदस्यों ने अपनी मांगों को लेकर सुबह दो से ढाई घण्टे कार्य बहिष्कार किया जिसमे सुबह 8 बजे से 10 बजे तक सभी नौ हेली ऑपरेटर्स की उड़ाने रुक गयी। हेली उड़ान न हो पाने से समस्त हेली कम्पनियों में तीर्थ यात्री काफी परेशान रहे। तीर्थ यात्रियों की स्थानीय कर्मचारियों के साथ बहस देखी गयी जिसमे बीच बचाव कर जिला प्रशासन के हस्तक्षेप के पश्चात निम्न मांगों – स्थानीय कर्मचारियों की वेतन बढ़ोतरी, सभी कर्मचारियों का बीमा किया जाय, स्थानीय कर्मचारियों का कार्यावधि का समय निश्चित किया जाय , सम्बंधित मांगों पर सहमति बन के पश्चात समस्त हेली सेवाओं ने अपनी उड़ाने शुरू की।


सगठन के अध्यक्ष सुभाष अंथवाल ने बताया कि पूर्व में निम्न मांगों के सम्बंध में जिलाधिकारी महोदय को ज्ञापन दिया गया था। परन्तु उनकी मांगों पर जिला प्रशासन एवं हेली कंपनियों द्वारा कोई निर्णय नही लिया गया। जिस कारण सभी स्थानीय कर्मचारियों को मजबूर होकर आज फाटा व, शेरसी स्थित बेस हेली पेड़ों एवं केदारनाथ धाम हेली पेड पर कार्य बहिष्कार के लिए मजबूर होना पड़ा।
हेली कम्पनियों की अनिमिताओं एवं ब्लैक टिकटिंग को लेकर जनप्रतिनिधियों ने तहसीलदार उखीमठ दीवान सिंह राणा को ज्ञापन प्रस्तुत किया।
इस अवसर पर जिला पंचायत उपाध्यक्ष सुमन्त तिवाड़ी, कनिष्क प्रमुख ब्लॉक उखीमठ शैलेन्द्र कोटवाल, जि प सदस्य कालीमठ विनोद राणा, प्रदीप शुक्ला सहित हेली सेवा में कार्यरत स्थानीय कर्मचारी मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.