पर्यटनरूद्रप्रयाग

चारसूत्रीय मांगों को लेकर सोनप्रयाग बाजार रहा बंद, पंजीकरण की अनिवार्यता को समाप्त करने को लेकर होटल एशोसिएशन ने दिया ज्ञापन।

रुद्रप्रयाग।
वीरवार को दोपहर 12 बजे तक सोनप्रयाग मुख्य बाजार व्यापारियों की अनेक मांगों को लेकर बंद रहा। जिसके बाद उप जिलाधिकारी उखीमठ जितेंद्र वर्मा ने व्यापारियों के साथ वार्ता कर उनकी मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया। व्यापारियों ने मांग करते हुए कहा सोनप्रयाग में जीएमओ एवं टीजीएमओ की बसों को सोनप्रयाग बाजार तक आने दिया जाय, सोनप्रयाग बाजार में दोनों ओर लगाई गई बैरिकेडिंग को शीघ्र हटाया जाए, तथा त्रियुगीनारायण के स्थानीय वाहनों को समय से त्रियुगीनारायण की ओर जाने दिया जाए।

सोनप्रयाग बाजार बंद का दृश्य

साथ ही जिला पंचायत की नव निर्मित पर्किंग से आवासीय व्यवस्था को तत्काल समाप्त करें और यात्रा को प्रातः 3 बजे से शुरू करें। इसके अलावा होटल एसोसिएशन ने जिला प्रशासन से चार धाम यात्रा में पंजीकरण की अनिवार्यता एवं श्रद्धालुओं की सीमित संख्या को समाप्त करने की मांग की। एसडीएम उखीमठ को दिए ज्ञापन में एसोसिएशन ने कहा कि कोरोना के बाद यात्रा विगत 2 वर्षों से बंद थी, किंतु इस वर्ष भी पंजीकरण और सीमित संख्या के नियमों के कारण यात्रा में व्यवधान उत्पन्न हो रहा है। कहा कि जिन लोगों की पहले से होटलों में बुकिंग है, यात्रा रजिस्ट्रेशन न होने के कारण उनकी बुकिंग कैंसिल हो रही है। जिस कारण होटल व्यवसायियों को भारी नुकसान हो रहा है कहा कि यदि व्यवसायियों की मांग पूरी नहीं होती हैं, तो 4 जून से केदारघाटी में अनिश्चित काल के लिए प्रतिष्ठान बंद कर दिए जाएंगे। जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.