उत्तराखंड

विधि-विधान के साथ भक्तों लिए खुले बाबा केदारनाथ के कपाट

वृष लग्न में प्रातः 6 बजकर 25 मिनट पर खुले कपाट

रुद्रप्रयाग।   ग्यारहवें ज्योतिर्लिंग भगवान केदारनाथ धाम के कपाट विधि विधान पूर्वक मंत्रोचारण के साथ शुक्रवार को वृष लग्न में प्रातः 6 बजकर 25 मिनट पर श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए गए हैं। कपाट खुलने की प्रक्रिया प्रातः से ही शुरू हो गई थी। इस अवसर पर रावल भीमा शंकर लिंग, मुख्य पुजारी टी गंगाधर एवं प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपनी धर्मपत्नी श्रीमती गीता धामी के साथ पूजा अर्चना की।
मुख्यमंत्री श्री धामी ने श्री केदारनाथ धाम में प्रथम रुद्राभिषेक पूजा करते हुए प्रदेशवासियों की सुख समृद्धि की कामना की।

इस दौरान मुख्यमंत्री श्री धामी ने केदार धाम में चल रहे निर्माण कार्यों में तेजी से एवं गुणवत्ता पूर्वक कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि चार धाम यात्रा में आने वाले श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की समस्या ना हो। सुगम सुरक्षित चार धाम यात्रा हेतु प्रदेश सरकार संकल्पित है।

केदारनाथ के कपाट खुलते समय जिला प्रशासन व तीर्थ पुरोहित सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे। केदारनाथ मंदिर को 11 क्विंटल फूलों से सजाया गया था।

इस अवसर पर विधायक श्रीमती शैलारानी रावत, बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय, केदारसभा के अध्यक्ष बिनोद शुक्ला, मुख्यकार्याधिकारी बद्रीनाथ – केदारनाथ मंदिर समिति BD सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष अमरदेई शाह, भाजपा जिला अध्यक्ष दिनेश उनियाल, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करण मेहरा , पूर्व विधायक मनोज रावत , अपर मुख्य सचिव आनंद बर्धन, सचिव धर्मस्व हरीश सेमवाल, आयुक्त गढ़वाल सुशील कुमार सुशील कुमार, DIG गढ़वाल करन नगनियाल, जिलाधिकारी मयूर दीक्षित पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल, अपर मुख्य कार्याधिकारी केदारनाथ योगेंद्र सिंह, यात्रा मजिस्ट्रेट KN गोस्वामी, सदस्य मंदिर समिति आशुतोष डिमरी सहित अन्य सम्मानित जन एवं बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.