उत्तराखंडहेल्थ

चारधाम यात्रा में सिक्स सिग्मा के डॉक्टर देंगे सेवा

सिक्स सिग्मा हेल्थकेयर की ओर से 130 से भी अधिक मेडिकल स्टाफ को लगाया जाएगा

केंद्रीय पर्यटन मंत्री ने सिक्स सिग्मा मेडिकल सेवा को दिल्ली से उत्तराखंड के लिए किया रवाना
श्री केदारनाथ धाम यात्रा में बेहतर मेडिकल सुविधा मिल सके इसके लिए सिक्स सिग्मा हाई ऐल्टिट्यूड मेडिकल सर्विस टीम के केदारनाथ धाम में मेडिकल सर्विस देने हेतु पहला बैच दिल्ली से रवाना हो गया है। केन्द्रीय पयर्टन राज्य मंत्री श्रीपद नायक ने दल को रवाना करते हुए कहा कि उच्च पर्वतीय इलाकों में मेडिकल सर्विस देने के लिए डॉ प्रदीप भारद्वाज, डॉ अनीता भारद्वाज और सिक्स सिग्मा हाई एल्टीट्यूड मेडिकल सर्विस टीम बधाई के पात्र है। जो विकट परिस्थितियों में धार्मिक यात्राओं पर आने वाले श्रद्धालुओं को चिकित्सा सुविधा प्रदान करने का कार्य करती है।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा, किसी भी परिस्थिति में असंभव को संभव करने  वाले सिक्स सिग्मा दल की टीम का काम सराहनीय है।  इस मौके पर सिक्स सिग्मा हाई ऐल्ट्टियूड मेडिकल सर्विस के मेडिकल निदेशक डॉ प्रदीप भारद्वाज ने केन्द्रीय पयर्टन राज्य मंत्री को बताया कि सिक्स सिग्मा हेल्थकेयर देश की एकमात्र ऐसी संस्था है जो हाई एल्टीट्यूड में फ्री मेडिकल सर्विस देती है, और किसी से भी किसी प्रकार का कोई डोनेशन नहीं लेती है। उन्होंने कहा कि सिक्स सिग्मा हाई एल्टीट्यूड मेडिकल सेवा का पंच मूलमंत्र एकदम साफ है, जो कितनी भी ऊंचाई, किसी भी स्थान पर, हर समय, किसी भी मौसम में और किसी भी पहाड़ पर व नाम, नमे, निशान, इज्जत और वफादारी के साथ सेवा देने के लिए सदैव तत्पर रहते हैं।
डॉ प्रदीप भारद्वाज ने बताया कि इस बार मेडिकल टीम यात्रा के दौरान ज्यादातर पॉर्टेबल मेडिकल इक्यूपमेंट का इस्तेमाल करेगी। जिससे यात्रियों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा दी जा सके। इसके अलावा यात्रियों की सुविधा के लिए हापरबॉनिक चैम्बर भी बनाया जाएगा। जबकि ईसीजी की भी सुविधा मिलेगी। इस बार यात्रा में मेडिकल सेवा देने के लिए सिक्स सिग्मा हेल्थकेयर की ओर से 130 से अधिक मेडिकल स्टाफ को लगाया जाएगा, जिसमें क्रीटिकल केयर, कार्डियो, रेसप्रेटरी और ओबशन/ गाइनी के विशेषज्ञ भी अपनी सेवाएं देगे। संस्था की ओर यात्रा के दौरान त्वरित संपर्क स्थापित करने के लिए सैटेलाइट फोन का उपयोग किया जाएगा। सिक्स सिग्मा हेल्थकेयर के बोर्ड मेम्बर डॉ कुलराज कपूर ने सिक्स सिग्मा हाई ऐल्टिट्यूड मेडिकल टीम को अपनी शुभकामनाएं देते हुए कहा कि जिस कार्य को करने में बड़ी से बड़ी संस्थाएं संकोच करती है। वहीं डॉ प्रदीप भारद्वाज के नेतृत्व में सिक्स सिग्मा हाई ऐल्टिट्यूड मेडिकल सर्विस की टीम चारधाम यात्रा में उस कार्य को बड़ी सहजता से पूरा कर रही है। केदारनाथ धाम में मेडिकल सर्विस देने के लिए जा रहे पहले बैच को शुभकामनाएं देते हुए आशीष शर्मा (उप निदेशक, सिक्स सिग्मा हेल्थकेयर) ने कहा कि 2013 से सिक्स सिग्मा हाई ऐल्टिट्यूड मेडिकल सर्विस केदारनाथ धाम में स्वास्थ्य सेवाएं दे रही है। संस्था ने अपने कार्य के बल पर नाम रौशन किया है। उन्होंने वॉलिंटियर्स को आगाह करते हुए कहा कि अपनी पूरी तैयारी के साथ ही केदारनाथ जाए और जाने से पहले अपने सामान की चैकिंग जरूर करने की सलाह दी। डॉ. भारद्वाज ने मेडिकल कैम्पों की जानकारी देते हुए बताया कि तृतीय केदार तुंगनाथ में सौविक चंद्र दत्ता मेडिकल शिविर संचालन का कार्यभार संभालेंगे। वहीं, द्वितीय केदार मद्महेश्वर में पैरामेडिकल स्टाफ के साथ संजीव कुमार और कैम्प का संचालन करेंगे, जबकि केदारनाथ धाम में मेडिकल सर्विस की कमान डॉ दीपांशु कौशिक, डॉ किरण मलिक के हाथों में रहेगी। केदारनाथ धाम मेडिकल सर्विस अभियान के शुभारंभ के मौके पर डॉ प्रदीप भारद्वाज, डॉ अनीता भारद्वाज, आशीष शर्मा, भारत शर्मा, सिद्धांत शर्मा, बलदेव बत्रा, सौविक चन्द्र दत्ता, तुषार सिंह, कर्नल एपी तंवर, डॉ शीतल, डॉ भगवत नारायण राजपूत, डॉ रिचा अग्रवाल आदि मौजूद थे।

सिक्स सिग्मा हजारों यात्रियों को दे चुकी है मदद
सिक्स सिग्मा हाई ऐल्टिट्यूड मेडिकल सर्विस के सीईओ डॉ. प्रदीप भारद्वाज ने हाई एल्टीट्यूड मेडिकल सर्विस के बारे में बताया कि मेडिकल टीम के साथ अब तक हिमालय क्षेत्र के कई दुर्गम स्थानों पर मेडिकल सेवाएं दे चुकी हैं। 2018 में सिक्स सिग्मा हाई ऐल्टिट्यूड मेडिकल सर्विस की टीम ने चारधाम यात्रा में केदारनाथ धाम, मद्महेश्वर धाम और हेमकुंड साहिब में 40,000 से अधिक श्रद्धालुओं को स्वास्थ्य सेवाएं दी। खराब मौसम और विकट परिस्थिति में मरने वाले लोगों की संख्या पर रोक लगाया। मेडिकल टीम विभिन्न हाई ऐल्टिट्यूड मेडिकल कैम्पों में अब तक 68,790 पीड़ितों को प्राथमिक चिकित्सा और 6,800 लोगों को आकसमिक सेवा प्रदान करा चुकी है। उन्होंने बताया कि सिक्स सिग्मा की मेडिकल टीम ने कैलाश मानसरोवर यात्रा में डोल्मा पास-19500 फीट की ऊंचाई पर 1120 पीड़ितों को चिकित्सा सहायता देकर उनकी जान बचाई थी। 2015 में नेपाल में आए भीषण विनाशकारी भूकंप में गोरखा जिले में सिक्स सिग्मा हाई ऐल्टिट्यूड मेडिकल रेस्क्यू टीम के साथ सबसे पहले पहुंचकर आपदा से पीड़ित 1700 से अधिक लोगों की सहायता की थी। इसके अलावा 2014 में अमरनाथ यात्रा के दौरान 11,290 श्रद्धालुओं को चिकित्सा सेवा देकर उनको नवजीवन प्रदान किया था। वहीं 2008-2018 तक मणिमेहश यात्रा (जिला-चम्बा, भरमौर, हिमाचल प्रदेश) में 24,000 यात्रियों को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराई थी।
केदार मेडिकल सर्विस की यह है टॉप 10 विशेषता
सिक्स सिग्मा के 130 मेडिकल स्टाफ तैनात
मूलमंत्र-कितनी भी ऊंचाई, किसी भी स्थान पर, हर समय, किसी भी मौसम में और किसी भी पहाड़ पर काम करना
ज्यादातर पॉर्टबल मेडिकल इक्यूपमेंट का इस्तेमाल करना।
यात्रियों की सुविधा के लिए हापरबॉनिक चैम्बर भी बनाया जाएगा।
क्रीटिकल केयर, कार्डियो, रेसप्रेटरी और ओबशन/ गाइनी के विशेषज्ञ।
संपर्क स्थापित करने के लिए सैटेलाइट फोन व वॉकी-टॉकी का उपयोग किया जाएगा।
सिक्स सिग्मा टीम रेस्क्यू में भी एक्स्पर्ट। सिक्स सिग्मा टीम आर्मी, वायु सेना, आईटीबीपी व बीएसएफ से ट्रेनिंग प्राप्त है।
सिक्स सिग्मा मेडिकल टीम है जिसे भारत सरकार से 40 से भी अधिक नैशनल अवार्ड प्राप्त है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.