देहरादूनहेल्थ

सीएम आवास पर प्रदर्शन कर रहे आउटसोर्सिंग कर्मी भीषण गर्मी से हुए बेहोश

देहरादून – कोरोनाकाल में स्वास्थ्य विभाग में सेवाएं देने वाले पीआरडी और उपनल के आउटसोर्सिंग कर्मियों का प्रदर्शन तेज हो गया है। सरकार से समायोजन की मांग को लेकर आज सैकड़ों कर्मियों ने मुख्यमंत्री आवास कूच किया, लेकिन पुलिस ने उन्हें हाथीबड़कला में बैरिकेडिंग लगाकर रोक दिया। इससे नाराज प्रदर्शनकारी सड़क पर ही धरने पर बैठ गए। इस दौरान कई प्रदर्शनकारी बेहोश भी हो गए।
हाथीबड़कला में रोके जाने पर गुस्साए प्रदर्शनकारी सड़क पर ही अपनी मांगों को लेकर नारेबाजी करने लगे। पुलिस ने जब प्रदर्शनकारियों को सड़क से हटाने की कोशिश की तो उनके बीच तीखी नोकझोंक होने लगी। इतना ही नहीं पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच जमकर धक्का-मुक्की भी हुई। वहीं, पुलिस ने जबरन सड़क पर धरने पर बैठे प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया। वहीं, चिलचिलाती धूप में नारेबाजी कर रहे कई प्रदर्शनकारी बेहोश होकर गिर गए। जिन्हें तत्काल अस्पताल पहुंचाया गया। आउटसोर्स कर्मियों का कहना है कि 31 मार्च को उनकी सेवाएं समाप्त कर दी गई है। उन्हें स्वास्थ्य विभाग ने कोरोनाकाल में आउटसोर्स एजेंसी के माध्यम से सेवा में लिया था, लेकिन अब उनकी सेवाएं समाप्त कर दी गई। जिसके बाद से सभी कर्मचारी अपनी समायोजन की मांग को लेकर आंदोलनरत हैं। उटसोर्सिंग कर्मचारियों  ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए नौकरी पर वापस रखने की मांग उठाई। स्वास्थ्य कर्मियों का कहना है कि कोरोनाकाल में उन्होंने अपनी जान जोखिम में डालकर सेवाएं दी। इतना ही नहीं उन्हें कोरोना योद्धा बताकर उन पर फूल भी बरसाए, लेकिन अब उन्हें बाहर का रास्ता दिखा कर उनके साथ अन्याय किया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.