उत्तराखंड

उत्तराखंड: बढ़ते तापमान के साथ सुलग रहे जंगल, कई हेक्टेयर वन जलकर खाक

प्रदेश में बढ़ते तापमान के साथ लगातार जंगलों में आग की घटनाएं हो रही हैं। बीते 24 घंटे में प्रदेश में 78 नई घटनाएं दर्ज की गईं, जिनमें करीब 113 हेक्टेयर वन क्षेत्र को नुकसान पहुंचा है। काबू पाने में वन विभाग के तमाम प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं।

भीषण गर्मी के बीच उत्तराखंड के पहाड़ों पर पिछले तीन दिन से कई स्थानों पर लगातार आग सुलग रही है। इसी के साथ फायर सीजन में अब तक 799 घटनाएं हो चुकी हैं। जिनमें कुल 1,133 हेक्टेयर वन क्षेत्र प्रभावित हुआ है। इसमें लाखों की वन संपदा का नुकसान होने का अनुमान है। पौड़ी जिले के तहत लैंसडौन व दुगड्डा रेंजों में पिछले दस दिनों में कई जंगल आग की चपेट में आकर राख हो गए हैं। हालांकि, प्रभाग की कोटड़ी रेंज में अभी तक जंगल में आग की एक भी घटना प्रकाश में नहीं आई है। जबकि कोटद्वार रेंज की गुलरझाला बीट में दो घटनाएं अभी तक सामने आई हैं। वहीं, लालढांग रेंज में अभी तक छह घटनाएं हुई हैं। दुगड्डा रेंज की फतेहपुर बीट में जहां अभी तक जंगल की आग की छह घटनाएं हुई हैं, मटियाली बीट में 22 घटनाएं प्रकाश में आई हैं। उधर, दो दिनों से उत्तरकाशी जनपद के जंगल जल रहे हैं। उत्तरकाशी जिला मुख्यालय से लेकर टौंस वन प्रभाग के जंगल भी धू-धू कर जल रहे हैं। जंगलों में धधक रही आग को लेकर सीएम धामी ने कहा हैं कि जंगलों में लगी आग की रोकथाम को लेकर विभाग सतर्क हैं आग की घटनाओं के रोकथाम को लेकर जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.