रूद्रप्रयाग

बैशाखी पर्व पर खुले गौरीकुंड स्थित गौरी माई मन्दिर के कपाट

प्रातः 8 बजकर 30 मिनट पर खुले कपाट

बैशाखी पर्व पर खुले गौरीकुंड स्थित गौरी माई मन्दिर के कपाट

फाटा।   केदारनाथ यात्रा के अंतिम पड़ाव गौरीकुंड में स्थित गौरी माई मन्दिर के कपाट विधि विधान एवं पूजा अर्चना के साथ आम भक्तों के दर्शनार्थ खोल दिये गए।
गौरी गांव स्थित चंडिका मन्दिर में बैशाखी के दिन प्रातः पुजारी के द्वारा पूजा अर्चना प्रारम्भ कर मा गौरी की उत्सव डोली को ग्रामीणों की उपस्थिति में मन्दिर से बाहर लाया गया। वैदिक मंत्रोच्चार एवं मा के जयकारों के साथ गौरी माई की उत्सव डोली को गौरीकुंड स्थित गौरी माई मन्दिर के लिए रवाना किया गया। गौरी माई की उत्सव डोली को ग्रामीणों के द्वारा जयकारों के साथ गौरीकुंड स्थित गौरी मन्दिर पहुंचाया जहां पर मन्दिर समिति के कर्मचारी एवं स्थानीय व्यापरियों के द्वारा माता की डोली का स्वागत किया गया। मन्दिर के पुजारी ,कर्मचारियों ग्रामीणों की उपस्थिति में मन्दिर के कपाट वैदिक मंत्रोच्चार व पूजा अर्चना के साथ ठीक 8 बजकर 30 मिनट पर भक्तों के दर्शनार्थ खोल दिए गए। एवं माता की मूर्ति को मन्दिर में विराजमान किया गया। इसी स्थान पर आगामी यात्राकाल के दौरान छः मास माता की पूजा अर्चना की जाएगी।
इस अवसर पर मन्दिर के मठाधिपति सम्पूर्णानंद गोस्वामी, पुजारी गौरी शंकर, आचार्य विमल जमलोकी मन्दिर समिति कैलास बगवाड़ी ,मायाराम गोस्वामी सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण व व्यपारी उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.