रूद्रप्रयाग

जखोली में आयोजित तहसील दिवस में 19 शिकायतें हुई दर्ज

दिल्ली-जखोली रोडवेज बस संचालित करने की मांग, मनरेगा में समय पर भुगतान न होने का मुद्दा रहा प्रमुख

रुद्रप्रयाग। जिलाधिकारी मनुज गोयल के निर्देशन में माह के दूसरे मंगलवार को जखोली में तहसील दिवस का आयोजन किया गया। इस दौरान विभिन्न फरियादिओं द्वारा कुल 19 शिकायतें दर्ज की गई जिनमें अधिकांश शिकायतों का मौके पर ही निराकरण किया गया जबकि शेष शिकायतों के निस्तारण हेतु संबंधित विभागों को प्रेषित किया गया।
तहसील जखोली के सभागार में मुख्य विकास अधिकारी नरेश कुमार की अध्यक्षता में आयोजित तहसील दिवस के अवसर पर राज्य आंदोलनकारी बिरेंद्र भट्ट द्वारा दिल्ली-जखोली रोडवेज बस, बामणगांव में पेयजल कनेक्शन, कमलेटू से इंद्रनगर तक निर्मित सड़क डामरीकरण आदि की समस्याएं दर्ज की गई। जबकि टेंडवाल के क्षेत्र पंचायत सदस्य आशीष नेगी ने प्रस्तावित ललूड़ी-टेंडवाल पूर्ण सड़क निर्माण कार्य विभागीय लापरवाही के चलते कार्य न होने की शिकायत की। कुमड़ी के धर्मेंद्र सिंह ने मुआवजा न मिलने को लेकर जबकि बजीरा निवासी महावीर सिंह राणा ने हिलाइगाड़ जल-संरक्षण के तहत रोई नामक तोक में जलाशय बनाने को लेकर प्रार्थना-पत्र दिया। जखोली के संग्राम सिंह ने चार माह से विद्युत संयोजन प्राप्त न होने की शिकायत की। ग्राम प्रधान टाट शांति देवी ने ग्राम पंचायत टाट से सिलगड़ पेयजल सप्लाई हेतु टैंक कनेक्शन को लेकर, नाग गांव की सुलोचना देवी ने मनरेगा में उनका भुगतान न होने की शिकायत दर्ज की। मखेत निवासी अषाड़ सिंह राणा ने घरड़ा आश्रम मखेत मोटर मार्ग जबकि थाती बड़मा के ओम प्रकाश ने समाज कल्याण विभाग द्वारा बारात घर न बनाए जाने व सरकारी धन का दुरुपयोग किए जाने की शिकायत दर्ज की। इसके साथ ही उनके द्वारा सरपंच चुनाव में उनको जानबूझकर वंचित रखने की भी शिकायत की गई। कुमड़ी के धर्मेंद्र सिंह ने सूर्यप्रयाग-मुसाढुंग मोटर मार्ग में स्कवर न बनाए जाने सहित डामरीकरण व दीवारों के निर्माण न होने की शिकायत दर्ज की गई।
आयोजित तहसील दिवस के अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी ने उपस्थित अधिकारियों को फरियादिओं द्वारा दर्ज की शिकायत व समस्याओं को गंभीरता से लेने के निर्देश दिए गए। साथ ही कहा कि अधिकारी प्राप्त शिकायतों को यथासंभव व यथाशीघ्र निराकरण करें।
इस अवसर पर मुख्य शिक्षा अधिकारी यशवंत सिंह चौधरी, जिला उद्यान अधिकारी योगेंद्र चौधरी, स्वास्थ्य विभाग, पंचायती राज, सैनिक कल्याण, बाल विकास, जल-संस्थान, विद्युत आदि सहित विभिन्न विभागीय अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.