क्राइमदेहरादून

एसटीएफ और साइबर क्राइम पुलिस ने वैष्णो देवी हेली सेवा के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह के सदस्यों को किया गिरफ्तार

पर्यटन की आड़ में वैष्णो देवी हेली सेवा देने के नाम पर फर्जी साइट की थी तैयार

देहरादून- उत्तराखंड एसटीएफ और साइबर क्राइम पुलिस ने वैष्णो देवी हेली सेवा के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह के सदस्यों को गिरफ्तार किया है। 9 लाख की धोखाधड़ी करने वाले वाले इस गिरोह के दो लोगों को बिहार से गिरफ्तार किया गया है। इनसे 12 फोन, 14 सिम कार्ड, 18 एटीएम, डेबिट कार्ड की बरामदगी भी की गई है। आरोपियों ने पर्यटन की आड़ में वैष्णो देवी हेली सेवा देने के नाम पर फर्जी साइट भी तैयार की थी।  मामले में निपुण शारदा निवासी इन्द्ररोड डालनवाला ने शिकायत दर्ज कराई थी कि अज्ञात लोगों ने वैष्णो देवी हेली सेवा देने के नाम पर फर्जी साइट बनाकर पीड़ित से फोन से संपर्क किया। जिसके बाद ऑनलाइन हेली सेवा बुक कराने के नाम पर 9,00,000 की धोखाधड़ी की। वहीं पीड़ित से अलग-अलग बैंक खातों में रकम जमा कराया गया। इस मामले में साइबर क्राइम पुलिस ने देहरादून में मुकदमा दर्ज किया था। प्रभारी निरीक्षक पंकज पोखरियाल ने बताया कि पुलिस टीम ने आरोपियों द्वारा पीड़ित को सपर्क करने के लिए जो मोबाइल नंबर दिये थे व धोखाधड़ी से मिले थे। धनराशि सिटी यूनियन बैक ऑफ इण्डिया व बैंक ऑफ बड़ौदा के खाते में मांगी गई थी। जिसके बाद इन खातों की जानकारी हासिल की गई। जिसके बाद दो आरोपी अभिषेक आर्यन उर्फ प्रदीप आर्यन और रवि कुमार को बिहार से गिरफ्तार किया गया। आरोपियों से घटना में प्रयोग एक दर्जन मोबाइल, 18 एटीएम कार्ड व विभिन्न कंपनियों के सिम बरामद किये गये हैं। आरोपियों ने मां वैष्णो देवी हेली सेवा देने के नाम पर फर्जी साइट तैयार की थी। शिकायतकर्ता द्वारा साईट पर मां वैष्णो देवी हेलीकॉप्टर यात्रा सेवा को लेने के लिए गूगल से नंबर सर्च कर फोन के माध्यम से सम्पर्क किया गया। आरोपियों ने शिकायतकर्ता को ऑनलाइन व्हाट्सएप चैट कर रेट लिस्ट भेजी। जिसके बाद हेली सेवा बुक कराने के नाम पर शिकायतकर्ता से धोखाधड़ी कर धनराशि विभिन्न वॉलेट व खातों में प्राप्त की. शिकायतकर्ता से प्राप्त धनराशि को एटीएम के माध्यम से निकाल ली जाती थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.