उत्तराखंड

गौरीकुंड – केदारनाथ पैदल मार्ग आवाजाही के लिए खुला।

घोड़े - खच्चरों की आवाजाही के लिए 1 मीटर चौड़ा रास्ता बनाया गया

खच्चरों की आवाजाही के लिए 1 मीटर चौड़ा रस्ता बनाया गया

शुक्रवार से केदारपुरी क्षेत्र में बर्फ सफाई का कार्य हुआ प्रारम्भ।
गुप्तकाशी। चारधाम यात्रा तैयारियों को लेकर प्रशासन ने केदारनाथ धाम में आवाजाही हेतु बर्फ साफ कर ली है।
जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) व लोनिवि ने गौरीकुंड- केदारनाथ पैदल मार्ग पर 9 किमी क्षेत्र में जमा 5 से 8 फीट बर्फ को काटकर रास्ता बना दिया है, जिस पर केदारनाथ धाम के लिए घोड़ा- खच्चरों की आवाजाही शुरू हो गई है। डीडीएमए के 150 से भी अधिक मजदूर बर्फ को हटाने में जुटे हैं।
डीडीएम के मजदूरों द्वारा 9 किमी क्षेत्र में खच्चरों की आवाजाही के लिए 1मीटर चौड़े रास्ते का निर्माण किया है। डीडीएमए के अधिकारियों ने बताया कि मौसम अनुकूल रहने पर आने वाले 15 दिनों में बर्फ हटाकर इसे 2 से 3 मीटर चौड़ा बनाया जाएगा। बर्फ प्रभावित क्षेत्र में 7 से 8 हिमखंड भी पसरे हुए हैं जहां पर सुरक्षा की दृष्टि से पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं।

डीडीएमए के ईई प्रवीण कर्णवाल ने बताया कि मजदूरों ने अभी 1 मीटर चौड़ा रस्ता बनाया गया है जिसे जल्द ही अधिक चौड़ा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि गौरीकुंड से निर्माण सामाग्री लेकर घोड़े- खच्चरों को केदारनाथ भेज दिया गया है। 150 मजदूर अभी भी बर्फ साफ करने के कार्य मे जूट हुए हैं।
शुक्रवार से केदारपुरी क्षेत्र में बर्फ की सफाई का कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है। जिस से पुननिर्माण के कार्य जल्द शुरू हो सकेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.