उत्तराखंड

केदारनाथ धाम के पैदल मार्ग पर बर्फ हटाने का कार्य प्रगति पर, जल्द ही धाम तक आवजाही हो जाएगी शुरू।

मन्दिर समिति का एडवांस दल अप्रैल माह में होगा केदारनाथ रवाना।

रिपोर्ट/ नितिन जमलोकी

गुप्तकाशी।  केदारनाथ धाम की आगामी 6 मई से शुरू होने वाली यात्रा को सुव्यवस्थित तरीके से संचालित करने के लिए प्रशासन तैयारियों जुटा है।
गौरीकुण्ड – केदारनाथ पैदल मार्ग पर बर्फ हटाने का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है तथा शीघ्र ही मार्च माह के अंत तक केदारनाथ धाम तक पैदल मार्ग से बर्फ हटाकर केदारनाथ धाम में आवाजाही सुचारू होने की संभावना है। पैदल मार्ग से बर्फ हटाने के लिए डीडीएम द्वारा लगभग 140 मजदूरों को लगाया गया है, जबकि घोड़े – खच्चरों का पंजीकरण जारी है तथा पैदल मार्ग पर दुकानों के आवंटन के लिए स्थानीय लोगों द्वारा दस्तावेज जमा किये जा रहे है।

गौरीकुण्ड – केदारनाथ पैदल मार्ग पर प्रशासन द्वारा स्वच्छता का विशेष ध्यान रखने के लिए शुलभ इन्टरनेशनल को कड़े निर्देश दिये गये है।
डीडीएमए के अधिकारियों से प्राप्त जानकारी के अनुसार गौरीकुण्ड – केदारनाथ पैदल मार्ग पर छानी कैम्प तक बर्फ हटा दी गयी है तथा शुक्रवार तक केदारपुरी तक बर्फ हटाने का कार्य पूर्ण किया जायेगा। अधिकारियों ने बताया कि पैदल मार्ग से बर्फ हटाने के लिए 140 मजदूरों को बर्फ हटाने के कार्य पर लगाया है,उन्होंने बताया कि केदारनाथ धाम में अभी भी डेढं फीट बर्फ जमी है। इसके अतिरिक्त पैदल मार्ग के दोनों तरफ भी डेढ़ से दो फीट बर्फ जमी है जबकि ग्लेशियर वाले स्थानों पर लगभग तीन से साढ़े तीन फीट बर्फ जमी हुई है।
डीडीएमए के अधिकारियों ने बताया कि गौरीकुण्ड से केदारनाथ धाम तक के मार्ग में मौसम के बार – बार करवट लेने से बर्फ हटाने में मजदूरों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।


वहीं उप जिलाधिकारी ऊखीमठ जितेन्द्र वर्मा ने बताया कि केदारनाथ धाम आने वाले तीर्थ यात्रियों को पैदल मार्ग पर किसी प्रकार की परेशानी न हो तथा पैदल मार्ग पर स्वच्छता बनी रहे इस के लिए शुलभ इन्टरनेशनल को कड़े निर्देश दिये गये है। उन्होंने बताया कि गौरीकुण्ड – केदारनाथ पैदल मार्ग पर संचालित होने वाले घोड़े – खच्चरों का पंजीकरण किया जा रहा है। इसके साथ ही पैदल मार्ग पर दुकानों के आवंटन के लिए स्थानीय युवाओं द्वारा औपचारिकता पूरी की जा रही है।उन्होंने बताया कि वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के कारण विगत दो वर्षों में केदारनाथ यात्रा खासी प्रभावित रही इसलिए इस वर्ष केदारनाथ के कपाट खुलते ही रिकार्ड तोड़ यात्रियों के केदारनाथ धाम पहुंचने की उम्मीद है। जिला प्रशासन का भरपूर प्रयास रहेगा की केदारनाथ धाम आने वाले तीर्थ यात्रियों को अधिक से अधिक सुविधा मिल सके। मन्दिर समिति (बीकेटीसी) के द्वारा बताया गया कि मन्दिर समिति का एडवास दल अप्रैल माह के दूसरे सप्ताह में केदारनाथ धाम के लिए रवाना होगा। साथ ही 1अप्रैल से पुननिर्माण के सभी कार्यों को प्रारम्भ किया जायेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.