उत्तराखंडहेल्थ

क्षय रोग उन्मूलन की दिशा में जनपद ने किया कांस्य पदक प्राप्त, विश्व क्षय दिवस पर दिल्ली में स्वास्थ्य मंत्रालय के द्वारा किया जाएगा सम्मानित।

रुद्रप्रयाग।  क्षय रोग उन्मूलन की दिशा में अग्रसर जनपद रूद्रप्रयाग ने टीबी को हराने की लड़ाई में क्षय उन्मूलन की बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलबध कराने के लिए कांस्य पदक प्राप्त किया है। विश्व क्षय दिवस के अवसर पर 24 मार्च को दिल्ली में स्वास्थ्य मंत्रालय के कार्यक्रम में जनपद को इस उपलब्धि के लिए सम्मानित किया जाएगा।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. बी. के. शुक्ला ने अवगत कराया कि क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत 2015 से 2021 तक निर्धारित सूचकांकों के आधार पर बेहतर टीबी स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति को परखने के लिए सब नेशनल टीबी फ्री सर्टिफिकेशन सर्वे किया गया था, जिसमें देश के कांस्य के लिए 139 जनपद, सिल्वर के लिए 53 व गोल्ड के लिए 11 जनपदों को नामांकित किया गया था। जिसमें उत्तराखंड राज्य को केवल कांस्य पदक सर्वे के लिए नामांकित किया गया था। राज्य के जनपद रुद्रप्रयाग उत्तरकाशी, बागेश्वर व अल्मोड़ा में सब नेशनल टीबी फ्री सर्टिफिकेशन सर्वे किया गया। इसके तहत भारत सरकार द्वारा गठित चार स्वास्थ्य एजेंसी द्वारा जनपद में दिनांक 18 फरवरी से 13 मार्च 2022 तक सर्वे किया गया गया। जिसमें क्षय रोग उन्मूलन से संबंधित निर्धारित सूचकांकों पर जनपद के प्रदर्शन को परखा गया।

बताया कि सब नेशनल सर्टिफिकेशन सर्वे में टीबी रोगियों को दी जा रही स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर पाए जाने पर उत्तराखंड में रुद्रप्रयाग को कांस्य पदक प्रदान करने की घोषणा की गई है, जो विश्व क्षय दिवस पर 24 मार्च को दिल्ली में होने वाले कार्यक्रम में प्रदान किया जाएगा।
जिला क्षय अधिकारी डाॅ. विमल गुसांई ने बताया कि भारत सरकार स्तर से आई स्वास्थ्य टीमों द्वारा 21 दिन तक जनपद में क्षय रोग व उसके उन्मूलन को लेकर निर्धारित मानकों/व्यवस्थाओं का क्षेत्र में सत्यापन किया गया।
डीपीसी मुकेश बगवाड़ी ने बताया कि सर्वे के दौरान मरीजों को दी जा रही सेवाओं व सुविधाओं जैसे मरीजों को समयबद्ध पोर्टल पर पंजीकृत करना, साधारण दवा के असर करने की जानकारी की यूडीएसटी जांच, प्रत्येक मरीज की एचआईवी ब्लड शुगर जांच, प्रत्येक मरीज को पांच सौ रूपए का भुगतान, मरीज के घर के छह वर्ष से छोटे बच्चों को सुरक्षा के लिए आईएनएच दवा देना, साधारण दवा का असर न होने पर एमडीआर मरीज को सात दिन में उपचार देना व क्षय रोग उन्मूलन को चलाए जा रही प्रचार-प्रसार गतिविधि, कैमिस्टों से टीबी की विक्रय की गई दवाओं एवं प्राइवेट चिकित्सकों से टीबी उपचार/सेवाओं की जानकारी आदि सूचकांकों की पड़ताल की गई। क्षय उन्मूलन की बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए कांस्य पदक प्राप्त करने पर खुशी जाहिर की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.