उत्तराखंड

दस्तक परिवार की ओर से अगस्त्यमुनि क्रीड़ा मैदान में फुलदेई महोत्सव एव घोघा जात्रा का आयोजन, घोघा नृत्य प्रतियोगिता में राइका कंडारा ने किया प्रथम स्थान प्राप्त।

फुलदेई महोत्सव में देखने को मिला लोक संस्कृति का अदभुत संगम।

रुद्रप्रयाग।  अगस्त्यमुनि के क्रीड़ा मैदान में फुलदेई महोत्सव पर लोक संस्कृति का अदभुत संगम देखने को मिला। दस्तक परिवार की ओर से आयोजित फुलदेई एवम घोघा जात्रा में पूरे जनपद से 50 से अधिक टीमों ने प्रतिभाग किया।घोघा नृत्य प्रतियोगिता में राजकीय इंटर कॉलेज कंडारा प्रथम, राइका मणिपुर द्वितीय, घोघा टीम ल्वाणी तृतीय, राजकीय प्राथमिक विद्यालय जैली चतुर्थ ओर मां मठियाणा घोघा टीम बिनोली ने पांचवा स्थान प्राप्त किया। सभी प्रतिभागी टीमों को स्मृति चिन्ह ओर नगद पुरस्कार दिया गया। महोत्सव को बाल विकास विभाग का पूर्ण सहयोग प्राप्त हुआ।
इस अवसर पर मुख्यअतिथि अपर निदेशक ( माध्यमिक शिक्षा) गढ़वाल मंडल पौड़ी महावीर सिंह बिष्ट ने प्रसन्नता जताई कि दस्तक पत्रिका परिवार के द्वारा बाल महोत्सव फुलदेई का वृहद आयोजन किया गया। उन्होंने कहा गढ़वाल में पांडव नृत्य , बगडवाल नृत्य, रामलीला होती हैं, परन्तु बच्चों का यह एकमात्र त्यौहार है, जिसे पूरे राज्य में व्यापक स्तर पर मनाया जा रहा है। यह बच्चों का राज्य महोत्सव घोषित हो सभी को प्रयासरत होना चाहिए। किताबी शिक्षा के साथ ही बच्चों को अपनी लोक संस्कृति व विरासत से भी रूबरू कराना चाहिए। विशिष्ट अतिथि गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय श्रीनगर के निदेशक लोक संस्कृति एव निष्पादन केंद्र डॉ डी आर पुरोहित ने कहा कि उत्तराखंड में फुलदेई अकेला ऐसा त्यौहार है, जो पूरी दुनिया मे सिर्फ बच्चों के द्वारा मनाया जाता है। इसके आयोजक व निदेशक दोनों बच्चे ही होते हैं। कार्यक्रम अध्यक्ष नगर पंचायत अध्यक्ष श्रीमती अरुणा बेंजवाल कहा कि ऐसा बड़ा आयोजन होने से हमारे नगर का गौरव बड़ा है। भविष्य में फुलदेई महोत्सव को ओर अधिक भव्य रूप में आयोजित करने चाहिए।
कार्यक्रम में मांगल गीत हेतु रामेश्वरी देवी, युवा साहित्यकार कविता कैंतुरा एव स्वास्थ्य क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने पर दर्शनी देवी को उम्मीदों के पहाड़ सम्मान से सम्मानित किया गया।


इस से पूर्व जनपद के विभिन्न क्षेत्रों से आई टीमों ने परंपरागत वाद्य यंत्रों व फुलदेई गीतों के साथ नगर में शोभा यात्रा निकाली।
इस अवसर पर राशिस के जिलाध्यक्ष आनन्द सिंह जगवाण, महिला सशक्तिकरण एव बाल विकास अधिकारी हिमांशु बडोला, प्रधानाचार्य हरेंद्र सिंह बिष्ट, व्यापार संघ अध्यक्ष नवीन बिष्ट, श्रीनंद जमलोकी, आयोजन समिति के अध्यक्ष हरीश गुंसाई, कालिका कांडपाल, दीपक बेंजवाल सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि एवम स्थानीय लोग उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.