उत्तराखंडहेल्थ

स्वास्थ्य विभाग ने ग्लूकोमा से बचाव को लेकर चलाया जागरूकता अभियान

विश्व ग्लूकोमा दिवस पर नेत्र सुरक्षा के प्रति चलाया जागरूकता कार्यक्रम, सप्ताह भर चलेगा अभियान

स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से सही समय पर ग्लूकोमा सामान्य भाषा मे काला मोतिया बीमारी से उपचार करने को लेकर चलाया जागरूकता अभियान।

रूद्रप्रयाग।  ग्लूकोमा से नेत्र सुरक्षा के प्रति जागरूकता के उद्देश्य के साथ जनपद रूद्रप्रयाग में विश्व ग्लूकोमा सप्ताह शुरू हो गया, इसके तहत स्वास्थ्य विभाग द्वारा सप्ताह भर ग्लूकोमा से बचाव के बारे में जागरूकता अभियान चलाया जाएगा।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 बीके शुक्ला ने बताया कि राष्ट्रीय दृष्टिविहीनता नियंत्रण कार्यक्रम के तहत जनपद में 12 मार्च 2022 तक विश्व ग्लूकोमा सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ग्लूकोमा जिसे आम भाषा में काला मोतिया भी कहा जाता है। कहा कि ग्लूकोमा का सही समय पर उपचार न किया गया तो इससे दृष्टिविहीनता भी हो सकती है।


ग्लूकोमा सप्ताह के तहत आयोजित कार्यक्रम में बताया गया कि अक्सर सिरदर्द रहना, बार-बार चश्में का नंबर बदलना, अंधेरे कमरों में दृष्टि समायोजन में कठिनाई होना, तेज रोशनी के चारों ओर इंद्रधनुषिया गोला दिखाई देना, आंख व चेहरे में दर्द, उल्टी की शिकायत ग्लूकोमा के लक्षण हैं। ग्लूकोमा की पूर्व पहचान कर समय पर उपचार कर दृष्टि को बचाने व 40 वर्ष की उम्र के बाद सभी को वर्ष में एक बार आंखों की अनिवार्य रूप से जांच कराने हेतु जागरूक करने के उद्देश्य को लेकर जनपद में 12 मार्च 2022 तक जागरूकता गतिविधि का आयोजन करने हेतु निर्देशित किया गया।
बैठक में एएनएम ऊषा नौटियाल, बीना नेगी, सुलोचना रावत, विनीता नेगी, आशा बुटोला, ममता नौटियाल, देववंती, प्रभा, संगीता पंवार, प्रेमा तिवारी, सुशीला असवाल, रजना, कलावती, पुष्पा सोनम, मनीषा, पूनम, प्रेरणा के अलावा काउंसलर आरकेएसके विपिन सेमवाल, एमएनओ नागेश्वर बगवाड़ी आदि मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.