उत्तराखंडरूद्रप्रयाग

रुद्रप्रयाग के सारी गांव में भूस्खलन से ग्रामीणों में खौफ, झालीमठ के 11 परिवार भूस्खलन की जद में

मौके पर पहुंची प्रशासन की टीम ने ग्रामीणों को सुरक्षित ठिकानों पर पहुंचाया।

रुद्रप्रयाग।    जनपद के सारी झालीमठ में अचानक हुए भूस्खलन से  गांव खतरे की जद में आ गया है। भूस्खलन हो जाने से ग्रामीणों में खौफ का माहौल बन गया है, भूस्खलन से गांव के 11 परिवार  खतरे  के साये में हैं, जिन्हें प्रशासन की टीम ने सुरक्षित स्थानों पर ठहरा दिया है।

जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार ने अवगत कराया कि प्रातः आपदा प्रबंधन कार्यालय को दूरभाष से सूचना उपलब्ध कराई गई कि राजस्व उपनिरीक्षक क्षेत्र सारी के अंतर्गत ग्राम झालीमठ में भू-स्खलन होने के कारण गांव को खतरा पैदा हो गया है जिसका तत्काल संज्ञान लेते हुए तहसीलदार, पटवारी एवं आपदा प्रबंधन की टीम सहित तुरंत घटना स्थल पर पहुंचकर राहत एवं बचाव कार्य किया गया जिसमें 11 परिवारों को राजकीय प्राथमिक विद्यालय, पंचायत भवन एवं अन्य मकानों में शिफ्ट किया गया। उन्होंने अवगत कराया है कि भू-स्खलन में किसी प्रकार की कोई जानमाल एवं पशु की कोई हानि नहीं हुई है।

जिन परिवारों को शिफ्ट किया गया है उनमें हरेंद्र लाल पुत्र रजी लाल के परिवार के 04 सदस्य हैं, बीरेंद्र लाल पुत्र रजी लाल के परिवार के 08 सदस्य, प्रेम लाल पुत्र गोरिया लाल परिवार के 09 सदस्य, धीरज लाल पुत्र गोरिया लाल परिवार के 04 सदस्य, अनिल आर्य पुत्र उम्मेद लाल के परिवार के 05 सदस्य, सुरेश चंद्र पुत्र कुंदन लाल के परिवार के 15 सदस्य, रमेश चंद्र पुत्र कुंदन लाल के परिवार के 04 सदस्य, दिनेश चंद्र पुत्र कुंदन लाल के परिवार के 04 सदस्य, बृजेश लाल पुत्र कुंदन लाल के परिवार के 04 सदस्य, उमेश चंद्र पुत्र कुंदन लाल के परिवार के 05 सदस्य, राकेश कुमार पुत्र बीरेंद्र लाल के परिवार के 05 सदस्य कुल 67 सदस्यों को प्राथमिक विद्यालय, पंचायत भवन एवं अन्य मकानों में शिफ्ट किया गया है तथा उनके पशुओं को भी सुरक्षित स्थानों में शिफ्ट किया गया है तथा पशुओं के रहने के लिए 06 परिवारों को तिरपाल भी उपलब्ध कराई गई है। राहत एवं बचाव कार्य में तहसीलदार मंजू राजपूत, क्षेत्रीय पटवारी, डीडीआरएफ एवं वाईएमएफ की टीम मौजूद रही।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.