रूद्रप्रयाग

श्री राम कथा के सातवें दिन निकली भव्य जल कलश शोभा यात्रा

श्रीराम कथा के आयोजन से भक्तिमय हुई केदारघाटी

फाटा।   केदार घाटी के सुप्रसिद्ध जमदग्नि ऋषि की तपस्थली में स्थित जमदगनेश्वर महादेव मन्दिर में ब्रह्मचारी ज्ञानान्द महाराज के सानिध्य में आयोजित रूद्र महायज्ञ व श्रीराम कथा के सातवें दिन 251 जल कलशो से भव्य जल कलश यात्रा निकाली गयी जिसमें सैकड़ों भक्तों ने शामिल होकर पुण्य अर्जित किया।

रूद्र महायज्ञ व श्रीराम कथा के आयोजन से केदार घाटी का वातावरण भक्तिमय बना हुआ है। सोमवार को रूद्र महायज्ञ, मंगलवार को श्रीराम कथा तथा बुधवार को महाशिवरात्रि पूर्णाहुति के साथ धार्मिक अनुष्ठान का समापन होगा। रविवार को सैकड़ों श्रद्धालु स्थानीय वाद्ययंत्रों की मधुर धुनों व सैकड़ों भक्तों की जयकारों के साथ जगदग्नेश्वर महादेव से जामू गाँव के मध्य में स्थित भगवान नारायण के कुंड मोरू नामक प्राकृतिक जल स्रोत के लिए रवाना हुए तथा प्राकृतिक जल स्रोत में विद्धान आचार्यों ने पूजा – अर्चना हवन कर 251 जल कलशो की विधिवत पूजा की। ठीक 11 बजे जल कलश यात्रा मन्दिर के लिए रवाना हुई तो भक्तों की जयकारों से सम्पूर्ण भूभाग गुजायमान हो उठा। सैकड़ों भक्तों की हर हर गंगे , जय माँ गंगे के जयकारों से सम्पूर्ण केदार घाटी का वातावरण देव तुल्य बना रहा। जल कलश यात्रा के मन्दिर परिसर पहुंचने से वहाँ पूर्व से मौजूद सैकड़ों भक्तों ने पुष्प अक्षत्रो से जल कलश यात्रा का भव्य स्वागत किया। जल कलश यात्रा के जगदग्नेश्वर महादेव मन्दिर की एक परिक्रमा करने के बाद प्रधान कलश से जगदग्नेश्वर महादेव व ब्यास पीठ का जलाभिषेक किया गया तथा शेष कलशो का जल भक्तों को प्रसाद स्वरूप वितरित किया गया।
इस अवसर पर कुलदीप सिंह रावत ,प्रधान विनीत देवी, क्षेप अनिता देवी, मन्दिर समिति अध्यक्ष सूरज नंदवाण, कुलदीप कुर्माचली ,संजय तिवारी , नितिन तिवारी, सुभाष कुर्माचली सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.