रूद्रप्रयाग

केदारनाथ धाम में भारी बर्फ के बीच तपस्या में लीन सिद्ध महात्मा

बाबा बर्फानी के नाम से विख्यात ललित जी महाराज

केदारनाथ धाम में भारी बर्फ में भी सिद्ध महात्मा तपस्या में लीन

फाटा। बारह ज्योतिर्लिंगों में से प्रमुख विश्व प्रसिद्ध केदारनाथ धाम के कपाट शीत काल मे बंद हैं, परन्तु आज भी हिमालय में स्थित बाबा केदारनाथ के धाम में सिद्ध तपस्वी महात्मा अपनी तपस्या में लीन रहते हैं। इन्ही में से एक बाबा बर्फानी के नाम से विख्यात स्वामी ललित रामदास जी महाराज आज भी धाम में रहकर 4 से 5 फीट बर्फ में भी तपस्या में लीन दिखाई देते हैं। इसी प्रकार अन्य महात्मा गरुड़ चट्टी स्थित गुफाओं में तपस्या में लीन रहते हैं।


ललित रामदास जी महाराज वर्ष भर धाम में ही निवास करते हैं। यात्राकाल में महाराज जी द्वारा प्रत्येक दिन भंडारे का आयोजन किया जाता है, शीत काल मे महाराज जी द्वारा पुनः निर्माण के कार्यों में लगे मजदूरों को भी भोजन करवाया जाता है। महाराज जी अपना साधना में लीन रहकर सदैव विश्व कल्याण की कामना करते हैं।
केदारनाथ धाम में मन्दिर परिसर में 4 से 5 फीट बर्फ होने की संभावना है एवम अन्य ऊपरी स्थानों पर 6 से 7 फीट बर्फ है।
गौरीकुण्ड से केदारनाथ धाम के पैदल मार्ग में 14 से 15 ग्लेशियर होने की आशंका है। इस वर्ष धाम में काफी बर्फवारी हुई है जिसका असर पुनः निर्माण के कार्यों पर दिखाई दिया है।
वर्तमान में धाम में बर्फवारी के चलते सभी द्वितीय चरण के पुनः निर्माण के कार्य बंद हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.