चमोली

सीमांत जनपद चमोली में सर्द मौसम के बावजूद चुनावी गरमाहट

टिकट ना मिलने से खफा नेताओं का पारा चढ़ा

चमोली: गढ़वाल के सीमांत जिले चमोली की तीनों विधानसभा सीटों पर भाजपा द्वारा प्रत्याशी घोषित किए जाने के उपरांत विरोध के स्वर उठने शुरू हो गए हैं। थराली विधानसभा से वर्तमान विधायक मुन्नी देवी शाह का टिकट कटने से जहां वे खुलकर भारतीय जनता पार्टी पर टिकट बेचने का आरोप लगा रही है वहीं दूसरी तरफ कर्णप्रयाग विधानसभा से वर्तमान विधायक सुरेंद्र सिंह नेगी भी अपना टिकट काटे जाने से पार्टी से खफा दिख रहे हैं। सुरेंद्र सिंह नेगी ने अपने फेसबुक पेज के माध्यम से एक-दो दिन में कोई बड़ा निर्णय लेने की घोषणा की है। जनपद की तीनों सीटों पर भारतीय जनता पार्टी के टिकट के लिए कई दावेदार दावा कर रहे थे। ऐसे में जबकि तीनों विधानसभा सीटों के लिए पार्टी द्वारा अधिकृत प्रत्याशी घोषित कर दिए गए हैैं , ऐसी स्थिति में टिकट मिलने की उम्मीद लगाए उम्मीदवारों का पार्टी से मोहभंग होना शुरू हो गया है। परिणाम स्वरूप टिकट की उम्मीद लगाए वर्तमान विधायकों के अतिरिक्त कई अन्य कार्यकर्ता भी खुलकर पार्टी के खिलाफ आना शुरू हो गए हैं। देखना दिलचस्प होगा कि आज तक पार्टी की रीति नीतियों से स्वयं को जोड़ने वाले कितने नेता पार्टी के अधिकृत प्रत्याशियों के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरते हैं। गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी के द्वारा चमोली जिले की 3 विधानसभा सीटों में से केवल बद्रीनाथ से वर्तमान विधायक श्री महेंद्र भट्ट को टिकट दिया गया है जबकि कर्णप्रयाग से विधायक सुरेंद्र सिंह नेगी एवं थराली से विधायक मुन्नी देवी शाह पर भरोसा ना करते हुए पार्टी ने इन दोनों सीटों पर अपने प्रत्याशी बदले हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.